15°C New York
June 21, 2024
रूसी युद्धपोत ने प्रशांत द्वीप समूह के पास अमेरिकी पनडुब्बी का किया पीछा
World

रूसी युद्धपोत ने प्रशांत द्वीप समूह के पास अमेरिकी पनडुब्बी का किया पीछा

Feb 14, 2022

 

यूक्रेन (Ukraine) पर बढ़ते तनाव के बीच मॉस्को ने शनिवार को कहा कि पनडुब्बी रोधी विध्वंसक एक रूसी युद्धपोत ने कुरील द्वीप समूह के पास एक अमेरिकी पनडुब्बी का पीछा कर उसे देश के क्षेत्रीय जल सीमा को छोड़ने के लिए मजबूर कर दिया. हालांकि, अमेरिकी सेना ने रूस के इस दावे से इनकार किया है.

रूस के रक्षा मंत्रालय ने कहा कि नियोजित सैन्य अभ्यास के दौरान मार्शल शापोशनिकोव विध्वंसक ने उत्तरी प्रशांत महासागर में कुरील द्वीप समूह के पास रूसी क्षेत्रीय जल सीमा में अमेरिकी नौसेना के वर्जीनिया श्रेणी की पनडुब्बी का पता लगाया था.

रूसी रक्षा मंत्रालय ने और विवरण दिए बिना कहा,  “जब अमेरिकी पनडुब्बी ने सतह पर आने से इनकार कर दिया, तो फ्रिगेट के चालक दल ने “उचित साधनों का इस्तेमाल किया” और अमेरिकी पनडुब्बी पूरी गति से भाग खड़ी हुई.”

रूसी रक्षा मंत्रालय ने कहा कि उसने इस घटना को लेकर मॉस्को में अमेरिकी रक्षा अधिकारी को तलब किया था. रक्षा मंत्रालय ने कहा, “रूसी संघ की राज्य सीमा का अमेरिकी नौसेना पनडुब्बी द्वारा उल्लंघन करने के संबंध में, मास्को में अमेरिकी दूतावास में पदस्थापित रक्षा अधिकारी को रूसी रक्षा मंत्रालय में बुलाया गया था.”

हालांकि, अमेरिकी सेना के एक बयान में कहा गया है: “उनके क्षेत्रीय जल सीमा में हमारे अभियानों के रूसी दावों में कोई सच्चाई नहीं है.”

यूएस इंडो-पैसिफिक कमांड के प्रवक्ता कैप्टन काइल रेनेस ने कहा कि वह अमेरिकी पनडुब्बियों के सटीक स्थानों पर टिप्पणी नहीं करेंगे लेकिन उन्होंने कहा: “हम अंतरराष्ट्रीय जल में सुरक्षित रूप से चलते हैं, सीमा का पालन करते हैं और सुरक्षित रूप से काम करते हैं.”

कुरील, जो जापान के होक्काइडो द्वीप के उत्तर में स्थित है, मास्को द्वारा नियंत्रित किया गया है क्योंकि उन्हें द्वितीय विश्व युद्ध के कमजोर दिनों में सोवियत सैनिकों द्वारा जब्त कर लिया गया था. कथित घटना उरुप के कुरील द्वीप के पास हुई, जिस पर रूस का नियंत्रण है.

यह वाकया रूस और पश्चिमी देशों के बीच बढ़ते तनाव के बीच आया है, जब मॉस्को ने यूक्रेन को तीन तरफ से 100,000 से अधिक सैनिकों के साथ घेर लिया है. इस बीच, वाशिंगटन ने चेतावनी दी है कि रूस “किसी भी दिन” चौतरफा आक्रमण  शुरू कर सकता है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *